गणेश जी की पूजा सबसे पहले क्यों की जाती है - Why is lord ganesh worshipped first?

दोस्तों आपको यह बात पता होगी कि हिंदू धर्म में जब भी किसी शुभ कार्य की शुरुआत होती है या हमारे घर या हमारे आसपास कुछ शुभ कार्य होने वाला होता है, तो हम सबसे पहले गणेश जी की पूजा करते हैं परंतु दोस्तों आपको यह पता है, कि हम गणेश जी की पूजा क्यों करते हैं (Why is lord ganesha worshiped first in hindi )
हम किसी भी शुभ कार्य में सबसे पहले गणेश जी को ही क्यों याद करते हैं तो दोस्तों हम आगे आपको गणेश जी की ऐसी खूबियों के बारे में बताएंगे जिसके बाद आप खुद समझ जाएंगे कि गणेश जी की पूजा सबसे पहले क्यों की जाती है। (Why is lord ganesh worshiped first in hindi )

Why is lord ganesh worshipped first in hindi
गणेश जी की पूजा सबसे पहले क्यों की जाती है

गणेश जी का सिर हाथी का है।  

गणेश जी का सिर हाथी का है इसका एक मात्र तात्पर्य है कि हाथी एक ऐसा पशु है जो बहुत गहराई से सोचता है, इतना ही नहीं हाथी जब चलता है तो अपनी सूंड से फूंक मार-मार कर चलता है इसका मतलब यह है कि रास्ते में एक चींटी के सामान भी कोई अड़चन उसके सामने ना आ पाए क्योंकि अगर रास्ते में या किसी कार्य को करते समय अगर चींटी के समान भी किसी के पास कोई दिक्कत आ जाए और वह एक बड़ा स्वरुप धराड़ कर ले तो बाद में आप कुछ नहीं कर पाएंगे| इसलिए आप भी जब कोई काम करें तो हाथी की तरह पहले से ही पूर्ण विचार करके उस कार्य को करें जिससे कि आने वाली विपत्ति का आप को पहले से ही पता हो और आप उस विपत्ति को आसानी से ख़तम कर सके।

दोस्तों गणेश जी का पूरा शरीर इंसान का है परंतु उनका सिर हाथी का है इसमें भी एक गंभीर बात है। जिस तरह हाथी का शरीर बड़ा होता है उसी तरह वह अपने सभी कार्य को बहुत गंभीरता से सोच विचार करके करता है हाथी की प्रवृत्ति गंभीर होती है। गणेश जी का हाथी की तरह होना उनके इन्हीं गुणों को प्रदर्शित करता है। आप यह ब्लॉग gyankiyatra.com पर पड़ रहे हे।

हाथी की आंख का छोटा होना 

हाथी के नेत्रों का निर्माण संसार के सभी प्राणियों से विपरीत है हाथी के  नेत्र की एक खुभी है वह छोटी वस्तुओं को भी बड़ा दिखता है इसका तात्पर्य यह है कि हर इंसान को अपनी विपत्ति व आने वाले किसी भी दुष्परिणाम को बड़ा देखते हुए चलना चाहिए और उसे कैसे दूर करना है इसका विचार कर लेना चाहिए। जो व्यक्ति अपने सामने वाले को छोटा और तुच्छ समझता है वह व्यक्ति हमेशा बड़ी खाई में गिर जाता है। दोस्तों आप लोगों ने कछुए और खरगोश की कहानी तो सुनी ही होगी जिस प्रकार खरगोश कछुए को तुच्छ समझकर उससे दौड़ में हार जाता है। यदि आप दूसरों को अपने आप से बड़ा देखेंगे तो वह आपका सहयोग भी करेंगे और आप में आने वाली किसी भी विपत्ति को साथ में मिलकर उसे दूर भी करेंगे।  आप यह ब्लॉग gyankiyatra.com पर पड़ रहे हे।

हाथी के कानों का बड़ा होना 

हाथी के बड़े कानो का मतलब यह है कि हमें अपने जीवन में हर किसी बात को बहुत गंभीरता से सुनना चाहिए किसी बात को यह नहीं समझना चाहिए कि वह छोटी है या बड़ी। उस बात का क्या अर्थ है और उसे सुनने से हमारा क्या फायदा हो रहा है व् हमें आगे भविष्य में क्या फायदा हो सकता है इसका भी ध्यान रखना चाहिए।

हाथी की तरह गणेश जी का पेट बड़ा होता है। 

दोस्तों, गणेश जी को लंबोदर भी कहा जाता है इसका मतलब है लंबी सुड़ और बड़े पेट वाला व्यक्ति।  जो व्यक्ति सभी बातों को सुन कर उसे अपने पेट में रखा रहता है और किसी बुराई को आगे ना फैलाकर उसे अपने पेट में ही समा लेता है ऐसा व्यक्तित्व, हर व्यक्ति का होना चाहिए।

"गणेश जी का एकदंत होना हमें एकता का प्रतीक देता है "

गणेश जी की सवारी मूषक क्यों है 

दोस्तों हिंदी में मूषक शब्द का अर्थ होता है चोरी करने वाला अर्थात वह चरित्र जो चोरी करें उसे मूषक कहा जाता है और गणेश जी का वाहन मूषक है। गणेश जी ऐसे व्यक्तित्व को हमेशा अपने पैरों के नीचे दबाए रखते हैं जो जिसके मन में कपट हो जो चोरी करता हो। आप यह ब्लॉग gyankiyatra.com पर पड़ रहे हे। ऐसे ही व्यक्तित्व वाले को अपना वाहन बना लिया है और उसे अपने पैरों के नीचे ही रखा है। इसे कहा जाता है असत्य में सत्य की विजय।

Also Read these post:

गणेश जी के चिंतन मात्र से सभी दुख दूर हो जाते हैं गणेश जी को गजमुख भी कहा जाता है इसका अर्थ है आठ मुंह वाला।  गणेश जी आठों पहर आठों दिशाओं की खबर रखते हैं इसलिए कोई भी मांगलिक कार्य करते वक़्त सबसे पहले  गणेश जी का ही नाम लिया जाता है। (Benefits of worshipping lord ganesha)

तो दोस्तों अब आप समझ ही गए होंगे क्यों सभी देवताओं में गणेश जी का नाम पहले लिया जाता है।  उनके विभिन्न गुणों की वजह से उन्हें हिंदू धर्म में सबसे पहला स्थान प्राप्त। 

दोस्तों में आशा रखता हूँ की आपको यह आर्टिकल पसंद आया होगा। दोस्तों जाने से पहले कमेंट बॉक्स में इस आर्टिकल के बारे में अपनी राय जरूर दे।
Previous
Next Post »